DA Image
अय्यारी

अय्यारी

2.7 3815 रेटिंग्स

डायरेक्टर : नीरज पांडे

रिलीज़ डेट :

  • मूवी जॉकी रेटिंग्स 1.8/5
  • रेट करें
  • रिव्यू लिखें

प्लाट

फिल्म 'अय्यारी' में बॉलीवुड एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा और मनोज बाजपाई आर्मी ऑफिसर की भूमिका में निभा रहे हैं। फिल्म एक रियल लाइफ स्टोरी पर आधारित है जिसे नीरज पांडे ने डायरेक्ट किया है। नीरज इससे पहले भी कई बेहतरीन फिल्मों का डायरेक्शन कर चुके हैं। फिल्म आने वाली 26 जनवरी पर रिलीज़ हो रही है। फिल्म में रकुल प्रीत सिंह सिद्धार्थ के साथ रोमांस करत...और देखें

निर्णय

“ फिल्म उम्मीदों पर खरी नहीं उतरती हैं। ”

अय्यारी क्रेडिट और कास्ट

सिद्धार्थ मल्होत्रा

क्रेडिट

कास्ट (क्रेडिट ऑर्डर में)

अय्यारी जनता के रिव्यू

आर्मी के अन्दर होने वाले घोटालों को उजागर करती है फिल्म !

|
रेटेड 2.0 / 5
|
द्वारा Usha Shrivas (387702 डीएम पॉइंट्स) | ऑल यूज़र रिवीव्स

रिव्यू लिखें

रिव्यू अय्यारी & डीएम पॉइंट्स*

नीरज पांडे की फिल्मों की जब भी बात होती है, तो आपके दिमाग में 'अ वेडनेसडे' 'बेबी' जैसी एक्शन थ्रिलर फिल्में घूमने लगती है। ऐसी ही कुछ उम्मीद हमने उनकी फिल्म 'अय्यारी' से लगाई थी, जो आज ही रिलीज़ हुई है। सिद्धार्थ मल्होत्रा और मनोज बाजपाई स्टारर ये फिल्म नीरज पांडे द्वारा डायरेक्टेड उनकी बाकी फिल्मों की तुलना में बहुत कमज़ोर निकली। फिल्म की न तो कहानी अच्छी है और न ही डायरेक्शन में उतना दमदार है। हां, मनोज बाजपाई और कुछ सीन्स में दिखे नसीरुद्दीन शाह ने जरुर हमें इम्प्रेस किया।

फिल्म की कहानी 2 आर्मी ऑफिसर मेजर जय बख्शी (सिद्धार्थ मल्होत्रा) और अभय सिंह (मनोज बाजपाई) के इर्द गिर्द घूमती है। दोनों ही देश की सेवा में जुटे होते है कि अचानक जय बख्शी भ्रष्ट ऑफिसर्स के साथ मिलकर उनके लिए काम करने लग जाता है। इससे आर्मी की बदनामी न हो तो अभय सिंह अपने शिष्य यानी जय के पीछे पड़ जाते हैं। ये कहानी दिल्ली से लंदन और फिर दिल्ली में घूमती रहती है। लेकिन समझ में नहीं आती। फिल्म का पहला भाग सबसे बोरिंग है।

आर्मी ऑफिसर्स, पॉलिटिशियन, देश वाले दुश्मन और फिर विदेश वाले दुश्मन सब को बारी-बारी दिखाया जाता है। लेकिन किसी का भी किरदार कहानी को आपस में जोड़ नहीं पाता। वो बस एक्स्ट्रा लगता है। एक ही फिल्म में जब बहुत कुछ एक साथ डालने की कोशिश की जाती है तो फिल्म पूरी ख़राब हो जाती है। ऐसा ही कुछ इस फिल्म के साथ हुआ।

अगर डायरेक्शन की बात करे तो वो फिल्म की कहानी के बाद दूसरी सबसे कमज़ोर कड़ी यही है। नीरज पांडे ने इससे पहले कई बेहतरीन फिल्में दी हैं। लेकिन इस फिल्म के बाद हमें बस निराशा ही हाथ लगी है। न ही फिल्म में कोई धमाकेदार एक्शन सीन है और न सस्पेंस। हां, उन्होंने इस बात का जरुर ख्याल रखा कि जहां सिद्धार्थ बिना हेलमेट के बाइक चलाते दिख रहे तो वहां वो डिस्क्लेमर देना नहीं भूले।

वैसे तो मनोज बाजपाई और सिद्धार्थ मल्होत्रा ही लीड रोल में हैं लेकिन रकुल प्रीत, नसीरूदीन शाह, अनुपम खेर, कुमुद मिश्रा जैसे कलाकार भी फिल्म का हिस्सा है। सिद्धार्थ के रोल की बात करे तो हमें कुछ नया नज़र नहीं आया। उनका इसी तरह का किरदार हम पहले 'अ जेंटलमैन' में देख चुके हैं। हां, लेकिन मनोज बाजपाई हमेशा की तरह आपको अपनी दमदार एक्टिंग और कुछ बेहतरीन डायलॉग से खुश जरुर कर जायेंगे। रकुल का फिल्म में क्या काम था समझ नहीं आया। अनुपम खेर और नसीरूद्धीन जितने देर के लिए स्क्रीन पर दिखे अच्छे लगे।

फिल्म की अच्छी बात यही लगी कि बहुत कम फिल्मों में आर्मी के अन्दर होने वाली धांधली को बड़े परदे पर दिखाने की कोशिश की गई है। ये उनमें से एक है। ये बात और है कि फिल्म उतना कमाल नहीं कर पाई। वैसे इस वीकेंड फ्री हैं तो एक बार तो ये फिल्म देखी जा सकती है।

  • Storyline
  • Direction
  • Acting
  • Cinematography
  • Music
Poster - AiyaariPoster - AiyaariPoster - AiyaariPoster - AiyaariPoster - AiyaaryPoster - AiyaaryPoster - AiyaaryPoster - AiyaaryPoster - AiyaaryPoster - Aiyaary