DA Image
बरेली की बर्फ़ी

बरेली की बर्फ़ी

3.1 10209 रेटिंग्स

डायरेक्टर : अश्विनी अय्यर तिवारी

रिलीज़ डेट :

  • मूवी जॉकी रेटिंग्स 3.5/5
  • रेट करें
  • रिव्यू लिखें

प्लाट

बरेली की बर्फी एक रोमांटिक फिल्म है जिसके निर्देशक अश्विनी अय्यर तिवारी है | आयुष्मान खुराना, कृति सेनन, राजकुमार राव के ऊपर बनी इस फिल्म में लव ट्रायंगल दिखाया गया है |

निर्णय

“बरेली की इस बर्फी में थोड़ी और मिठास हो सकती थी। ”

बरेली की बर्फ़ी क्रेडिट और कास्ट

Ayushmann Khurrana

क्रेडिट

कास्ट (क्रेडिट ऑर्डर में)

बरेली की बर्फ़ी जनता के रिव्यू

नए तरह की कॉमेडी देखनी है तो एक बार देख लीजिये 'बरेली की बर्फ़ी' !

|
रेटेड 3.0 / 5
|
द्वारा Usha Shrivas (289902 डीएम पॉइंट्स) | ऑल यूज़र रिवीव्स

रिव्यू लिखें

रिव्यू बरेली की बर्फ़ी & डीएम पॉइंट्स*

आयुष्मान खुराना, कृति सेनन और राजकुमार राव की फिल्म 'बरेली की बर्फी' रिलीज़ हो चुकी है। इस फिल्म की कहानी भी बाकि फिल्मों की तरह तीन लोगो के बीच में घूमती है। फिल्म का निर्देशन डायरेक्टर नितेश तिवारी की पत्नी अश्विनी अय्यर तिवारी ने डायरेक्ट की है। फिल्म में उत्तर प्रदेश के बरेली की बोली, रहन सहन और तौर तरीके कॉपी करने की पूरी कोशिश की गई है। दूसरे भाग को छोड़ दें तो फिल्म मज़ेदार है।

कहानी- फिल्म की कहानी बरेली की रहने वाली बिट्टी मिश्रा यानी कृति सेनन के इर्द-गिर्द घूमती है। बिट्टी एक ऐसी लड़की है जो ब्रेक डांस करती है, सिगरेट पीती है, चुलबुली और बडबोली सी है। जिसे देख लड़के वाले बिट्टी को रिजेक्ट कर देते हैं। इसी बीच बिट्टी के हाथ लगती है एक किताब 'बरेली की बर्फी'। बिट्टी किताब के किरदार में अपने आप को देखती है और उस किताब के लेखक से प्यार करने लगती है। इसी बीच एंट्री होती है आयुष्मान यानी चिराग दूबे की जो उस लेखक से मिलवाने में बिट्टी की मदद करता है और नकली लेखक प्रीतम विद्रोही यानी राजकुमार राव से उसे मिलवा देता है।

एक्टिंग-अगर एक्टिंग की बात की जाये तो फिल्म के सभी किरदार ने अपना काम बखूबी किया है। बिट्टी के माता-पिता के रूप में पंकज त्रिपाठी और सीमा भार्गवा भी अपनी मज़ेदार एक्टिंग से खुश कर देंगे। लेकिन जो इन सब पर भारी पड़ता है वो है राजकुमार राव का किरदार। राजकुमार ने फिल्म ने दोहरी एक्टिंग की है। एक तरफ वो एक दम शांत और सीधे-साधे व्यक्ति के किरदार में है, तो दूसरी तरफ आवाज़ में भारीपन ला कर वो एक रंगबाज़ लड़के की भूमिका में नज़र आये हैं। फिल्म में नई तरह की कॉमेडी है जो दर्शकों को पसंद आएगी।

डायरेक्टर अश्विनी अय्यर ने बरेली का रंग-ढंग दिखाने में अच्छी कोशिश की है। इंटरवल से पहले का पार्ट मस्ती भरा, मज़ेदार है तो वहीं दूसरा भाग और एंडिंग इतनी रोचक नहीं है। डायरेक्टर फिल्म का एंड और बेहतर तरीके से कर सकती थी। फिल्म के डायलॉग्स, सिनेमैटोग्राफी, और म्यूजिक ठीक है।

फिल्म कहीं-कहीं आपको फिल्म 'साजन' की याद दिलाएगी जो आप पहले देख चुके हैं। लेकिन फिल्म मज़ेदार है, नए तरह के डायलॉग्स और कॉमेडी है। एक्टर्स ने अपने किरदार में जान डाल थी है। चिराग दूबे के दोस्त से लेकर बडबोली मम्मी आपको खूब हँसाएगी। फिल्म अच्छी है पारिवारिक है तो एक बार तो परिवार संग ज़रूर देखी जानी चाहिए।

CoverPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki BarfiPoster - Bareilly Ki Barfi