DA Image
द ग़ाज़ी अटैक

द ग़ाज़ी अटैक

3.0 2925 रेटिंग्स

रिलीज़ डेट :

  • मूवी जॉकी रेटिंग्स 3.2/5
  • रेट करें
  • रिव्यू लिखें

प्लाट

भूमिका फिल्म 'द ग़ाज़ी अटैक' इंडो-पाकिस्तान 1971 युद्ध की पृष्टभूमि पर आधारित है| जिसमेँ नेवी ऑफ़िसर और उसके टीम के साहस की कहानी को दिखाया गया है, जो युद्ध के समय 18 दिन पानी के अंदर रहते है| फिल्म को संकल्प रेड्डी ने निर्देशित किया और लिखा है| एक्टर राणा दग्गुबती, एक्ट्रेस तापसी पन्नू, के के मेनन और अतुल कुलकर्णी फिल्म में मुख्य में हैं|और देखें

निर्णय

“फिल्म में इंडो पाक के युद्ध को बखूबी दिखाया गया है फिल्म के सभी किरदार ने काफी अच्छा अभिनय किया है। ”

द ग़ाज़ी अटैक क्रेडिट और कास्ट

के के मेनन

क्रेडिट

द ग़ाज़ी अटैक जनता के रिव्यू

द ग़ाज़ी अटैक : ऑडियंस रिव्यू

|
रेटेड 2.0 / 5
|
द्वारा Pallavi Jaiswal (190368 डीएम पॉइंट्स) | ऑल यूज़र रिवीव्स

रिव्यू लिखें

रिव्यू द ग़ाज़ी अटैक & डीएम पॉइंट्स*

'द ग़ाज़ी अटैक' फिल्म की कहानी 1971 की एक समुन्द्री लड़ाई के बारे में है, जिसमें PNS Ghazi (पीएनएस ग़ाज़ी) नाम की एक पाकिस्तानी सबमरीन को भारत की INS Vikrant (आईएनएस विक्रांत) को खत्म करने के लिए भेज गया था। लेकिन भारत की एस-21 सबमरीन के जवानों ने ऐसा होने से रोक लिया था।

इस फिल्म को काफी अच्छे तरीके से बनाया गया है। फिल्म में राणा दग्गुबती, केके मेनन, अतुल कुलकर्णी आदि लीड रोल में हैं। इसके अलावा फिल्म में तापसी पन्नू और स्वर्गीय ओम पुरी भी हैं। फिल्म की कहानी अच्छी होने के बावजूद ये फिल्म आपको खुश नहीं कर पाती क्योंकि एक्टर्स की परफॉरमेंस में वो जोश नहीं है जो होना चाहिए था।

फिल्म को अच्छे से बनाया गया है। इसकी सिनेमेटोग्राफी काफी बढ़िया है लेकिन परफॉरमेंस ढीली होने की वजह से आप इस फिल्म को ढंग से एन्जॉय नहीं कर पाते और अपने फ़ोन की तरफ देखने को मजबूर हो जाते हैं।

फिल्म में जब तक कोई बातचीत नहीं होती और बस एक्शन होता है फिल्म अच्छी लगती है, लेकिन जैसे ही कोई कुछ बोलता है फिल्म का मज़ा खराब होने लगता है। डायलॉग्स बिलकुल घिसेपिटे हैं। केके मेनन और छोटे आर्टिस्ट्स की एक्टिंग अच्छी है। इसके अलावा पाकिस्तानी कमांडर की भूमिका को राहुल सिंह काफी बेहतरीन तरीक़े से निभाया है।

इस फिल्म को एक बार देखा जा सकता है।

  • Storyline
  • Direction
  • Acting
  • Cinematography
  • Music
द ग़ाज़ी अटैक !