DA Image

ऑल यूज़र रिवीव्स ऑफ़ कमांडो 2

  • कमांडो 2 रिव्यू

    Pallavi Jaiswal (190068 डीएम पॉइंट्स)

    रेटेड  
    1.5
    देसीमार्टीनी | अपडेट - March 03, 2017 16:10 PM IST
    3.1डीएम (5643 रेटिंग्स )

    निर्णय - फिल्म के एक्शन से भरपूर होने के बावजूद भी आप बोर हो जायेंगे !

    कमांडो 2ट्रेलर देखें रिलीज़ डेट : March 03, 2017



    विद्युत जामवाल की फिल्म 'कमांडो 2' आज से सभी सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है। जिन लोगों ने फिल्म 'कंमाडो' देखि है वो समझ सकते हैं कि इस फिल्म की एहमियत क्या है। इसके अलावा विद्युत् के फैन्स और बाकि सब को भी इस फिल्म का बेसब्री से इंतज़ार था। इस फिल्म का ट्रेलर बेहद ज़बरदस्त था और उस ट्रेलर से सबके होश उड़ाने के साथ-साथ फिल्म में सभी की दिलचस्पी बहुत ज़्यादा बड़ा दी थी।

    लेकिन फिल्म ने भी हमें कम झटका नहीं दिया है। क्योंकि ये फिल्म बिलकुल वैसी नहीं है जैसी आपने और हमने सोची थी !

    अगर आपको उम्मीद है कि ये फिल्म पहली वाली फिल्म से बेहतर होगी या सही के जैसी होगी तो भूल जाइये क्योंकि ऐसा कुछ भी नहीं है। फिल्म की स्टोरीलाइन ही सब की सोच से परे है। फिल्म में कभी भी कुछ भी हो रहा है। नोटबंदी के बाद देश के आम आदमी को होने वाली परेशानियों के मुद्दे को उठाते हुए काले धन की समस्या को ख़त्म करने का टॉपिक लेकर इस फिल्म को बनाया गया है। लेकिन फिल्म में आपको इतना कंफ्यूज किया जायेगा कि आपको समझ ही नहीं आयेगा कि हो क्या रहा है और क्यों?

    अगर आपने डायरेक्टर देवें भोजानी के बनाये शो देखें है तो आप सोच रहे होंगे कि ये फिल्म भी साराभाई वर्सेस साराभाई या सुमित संभल लेगा जैसे शोज़ की तरह मीनिगफुल और मज़ेदार होगी तो ऐसा भी नहीं है। क्योंकि इस फिल्म में कोई मज़ा नहीं है और एक्शन देखकर आप बोर हो जायेंगे। जी हाँ, सही पढ़ा अपने कई एक्शन सीन्स ऐसे हैं जिन्हें देखकर लगता है कि इन्हें ज़बरदस्ती फ़िल्म में डाला गया है ताकि वो अच्छी लगे लेकिन अफ़सोस एक्शन का कोई फायदा नहीं है।

    एक्टिंग ! ये बात मानने वाली है कि विद्युत् जामवाल, अदा शर्मा, फ्रेड्डी दारूवाला और ऐशा गुप्ता के साथ फिल्म की कास्ट बेहद सेक्सी है, लेकिन बड़े अफ़सोस के साथ हमें कहना पड़ रहा है कि फिल्म में किसी ने भी अच्छी एक्टिंग नहीं की है।

    बहुत से ऐसे सीन्स हैं जिनकी ज़रूरत फिल्म में बिल्कुल नहीं थी, लेकिन फिर भी उन्हें फिल्म में डाला गया है। क्या सोचकर? ये हमें भी नहीं पता। फिल्म के डायलॉग्स की बात ना ही करें तो अच्छा होगा !

    इस फिल्म में म्यूजिक क्यों है ये बात भी समझ से बाहर है। और इतना बुरा म्यूजिक किसी फिल्म में कोई देता है भला? ऐसी बहुत सी बातें हैं जिन्हें हम लिखकर भी बयाँ नहीं कर सकते हैं। तो समझ लीजिये कि ये फिल्म कैसी है। इसके साथ-साथ फिल्म में ज़बरदस्ती देशभक्ति की भावना घुसने की कोशिश की गयी है, जिसका कोई फायदा नहीं होता।

    इस फिल्म को ढंग से बनाया जा सकता था यहाँ तक कि कहानी बहुत अच्छी हो सकती थी। ऐसा लगता है कि फिल्म के राइटर अपनी सोच को पूरा नहीं कर पाए और उन्होंने बिना-सोचे समझे इस फिल्म को लिख दिया। इसके अलावा डायरेक्टर महोदय का भी कोई ख़ास मन नहीं था तो उन्होंने जैसा चाहा वैसा इस फिल्म को बना दिया। इन सब के बाद भी आप चाहे तो इस फिल्म को ज़रूर देखिये, आपकी मर्ज़ी !

    • Storyline
    • Direction
    • Acting
    • Cinematography

और ऑडियंस रिव्यूज़

  • Kuldeep Kumar

    Kuldeep Kumar

    80 रिव्यू
    रेटेड 5.0मार्च 06, 2017

    stunt मस्त थे

    एक टाइम तो स्टोरी मै वही गीसा पीटा मसाला जो पहले देख चुके है वही है लेकिन विद्युत जामवाल के स्टंट देखने लायक है अगर आप विद्युत जामवाल के फैन हो और स्टंट...और पढ़ें

  • Pallavi Jaiswal

    Pallavi Jaiswal

    45 रिव्यू , 5 फ़ॉलोअर्स
    रेटेड 1.5मार्च 03, 2017

    कमांडो 2 रिव्यू

    विद्युत जामवाल की फिल्म 'कमांडो 2' आज से सभी सिनेमाघरों में रिलीज़ हो चुकी है। जिन लोगों ने फिल्म 'कंमाडो' देखि है वो समझ सकते हैं कि इस फिल्म की एहमियत...और पढ़ें