DA Image

ऑल यूज़र रिवीव्स ऑफ़ फुकरे रिटर्न्स

  • अगर फ़िल्म 'फुकरे रिटर्न्स' नही देखेंगे तो पछतायेंगे आप !

    Pallavi Jaiswal (190068 डीएम पॉइंट्स)

    रेटेड  
    4.0
    देसीमार्टीनी | अपडेट - December 08, 2017 09:04 AM IST
    3.0डीएम (3764 रेटिंग्स )
    फुकरे रिटर्न्सट्रेलर देखें रिलीज़ डेट : December 08, 2017



    साल 2013 में फ़िल्म 'फुकरे' से हमारे दिलों ने छाने के बाद हनी, चूचा, लाली और ज़फर एक बार फिर 'फुकरे रिटर्न्स' के साथ वापस आ गए हैं। और वो भी पहले से बेहतर अंदाज़ में। फ़िल्म की शुरुआत पिछली फिल्म के सीन्स के साथ होती है जहां इन चारों के भोली पंजाबन के साथ हुए बवाल के बारे में बताया गया है। भोली को जेल गए एक साल बीत चुका है और हनी और चूचा आज भी अपने सपनों का कारोबार कर रहे हैं। लाली आज भी अपने पिता की हलवाई की दुकान सम्भाल रहा है और ज़फर भाई ने गाने गाना शुरू कर दिया है। वहीं भोली जेल में सड़ते हुए निकलने के जुगाड़ लगा रही है।
    और जैसा हनी कहता है कि दुनिया जुगाड़ पर चलती है। भोली को जेल से निकालने का जुगाड़ हो भी जाता है। अब भोली इन चारों फुकरों से इनके किये का बदला लेने को तैयार है।
    फ़िल्म की कहानी पहले वाली 'फुकरे' से बेहतर है। इस बार फ़िल्म में कई मोड़ हैं और एक भी बार आप बोर नही होते। बल्कि आपको उत्सुकता होती है कि आगे क्या होगा। इसके साथ ही फ़िल्म में बहुत सी ऐसी चीज़ें हैं जो आपको पसंद आयेगी। अपनी हंसी को रोक पाना बहुत मुश्किल है क्योंकि चूचा अपनी हरकतों से बाज़ आने को तैयार ही नही है। इसके साथ ही पिछली फिल्म की दो लव स्टोरी इस फ़िल्म में आगे बढ़ रही हैं। जहां ज़फर शादी की तैयारियां कर रहा है वहीं हनी प्रिया के पापा को पटा रहा है। जिसका मतलब है कि ये फ़िल्म मनोरंजन का भंडार है।
    फ़िल्म में सभी किरदारों की परफॉरमेंस कमाल है। लेकिन जो एक इंसान सारी फ़िल्म अपने नाम कर रहा है वो है वरुण शर्मा। चूचा के किरदार में उन्होंने एक बार फिर बेहतरीन काम किया है। पुराना चूचा इस बार भी देखने को मिला और इस बार उसने पहले से ज़्यादा एंटरटेन किया। वरुण के डायलॉग से लेकर उनकी एक्टिंग और उनके सपने सब बेमिसाल थे। पुलकित सम्राट और मनजोत ने अच्छी परफॉरमेंस दी। अली फ़ज़ल को थोड़ा और देखने को मिलता तो अच्छा था लेकिन उन्होंने काम अच्छा किया। भोली पहले की तरह दबंग है और आपको पसंद आएगी। इसके साथ ही आपको भोली का एक अलग रूप भी देखने को मिलेगा। पंकज त्रिपाठी के क्या कहने। कमाल है वो।
    डायरेक्शन बढ़िया है और गाने तो पहले से ही सभी की ज़ुबान पर चढ़े हुए हैं। दिल्ली को ऊपर से तो आपने बहित देखा होगा। लेकिन इस फ़िल्म में आपको ज़मीन के नीच जीने वाली दिल्ली भी देखने को मिलेगी। और इसी के साथ फ़िल्म की सिनेमेटोग्राफी बेहतरीन है।
    फ़िल्म की पहली वाली से काफी मिलती है लेकिन बेहतर है। जब सबकुछ इतना अच्छा है तो आपका इस फ़िल्म को देखना बनता है। और अगर नही देखी तो बहुत पछताओगे बॉस।

और ऑडियंस रिव्यूज़

  • Pallavi Jaiswal

    Pallavi Jaiswal

    45 रिव्यू , 5 फ़ॉलोअर्स
    रेटेड 4.0दिसंबर 08, 2017

    अगर फ़िल्म 'फुकरे रिटर्न्स' नही देखेंगे तो पछतायेंगे आप !

    साल 2013 में फ़िल्म 'फुकरे' से हमारे दिलों ने छाने के बाद हनी, चूचा, लाली और ज़फर एक बार फिर 'फुकरे रिटर्न्स' के साथ वापस आ गए हैं। और वो भी पहले से बेह...और पढ़ें