ऑल यूज़र रिवीव्स ऑफ़ ओमेर्टा

  • एक आतंकवादी की सच्ची कहानी को बताती है राजकुमार राव की फिल्म 'ओमेर्टा' !

    Usha Shrivas (48402 डीएम पॉइंट्स)

    रेटेड  
    2.0
    देसीमार्टीनी | अपडेट - May 03, 2018 19:36 PM IST
    2.7डीएम (4124 रेटिंग्स )

    निर्णय - बेमिसाल एक्टिंग और कमाल का डायरेक्शन है फिल्म !

    ओमेर्टारिलीज़ डेट : May 04, 2018




    राजकुमार राव और हंसल मेहता ने साथ में शाहिद और अलीगढ़ जैसी लीग से अलग हटकर फिल्मों में काम कर चुके हैं। अब वो एक बार फिर ये जोड़ी ओमेर्टा जैसी अलग फिल्म लेकर हाज़िर हैं। दुनियाभर में तारीफ बटोरने वाली फिल्म ओमेर्टा टेररिस्ट अहमद ओमर सईद शेख़ पर बेस्ड है। जिनका नाम कई टेररिस्ट एक्टिविस्टी में शामिल है। फिल्म में राजकुमार ने ओमर का किरदार निभाया है।
    फिल्म में 1992 से लेकर 2002 तक की ओमर की कहानी दिखाई गई है। जो पैदा तो पाकिस्तान में होता है लेकिन उसकी परवरिश लंदन में हुई होती है। वो अपने मुस्लिम भाई-बहन की मौत का बदला चाहता है, जिसके लिए वो धर्म की आड़ में टेररिस्ट एक्टिविटी को अंजाम देता है। फिर चाहे 1994 में 4 फ़ॉरनर्स की किडनैपिंग हो या अमेरिका में हुई 9/11 की घटना। इन दोनों ही मामलो में ओमर का हाथ है, जिसे फिल्म में दिखाया गया है।
    एक मुस्लिम लड़का जो लंदन में पला बढ़ा है, समझदार है। लेकिन धर्म के नाम पर आतंकवादी बनता है। फिल्म में यही किरदार निभाया है राजकुमार ने। वो ब्रिटिश एक्सेंट में इंग्लिश बोलता हैं। चालाक हैं, कट्टर है। जहां तक की राजकुमार की परफॉरमेंस की बात करे तो वो ओमर के किरदार को घोट को पी गये हैं। उठने, बोलने, चलने और आतंक फैलाने के मामले में किसी आतंकवादी से कम नहीं लग रहे। एक्टिंग के हिसाब से ये उनकी अब तक की बेस्ट परफॉरमेंस है।
    फिल्म को हंसल मेहता ने डायरेक्ट किया है जो हमेशा ही कहानी और किरदार पर जोर देते हैं। इस फिल्म में भी उनकी वो मेहनत और कड़ी रिसर्च साफ़ दिखाई देती है। हर के सीन पर खास जोर दिया गया है। फिर चाहे ओमर के जेल के दिनों को दिखाना हो या उनकी ट्रेनिंग के दिनों को। हंसल ने हर सीन को बेहतर करने की पूरी कोशिश की है।

    फिल्म की ज़्यादातर शूटिंग लंदन और दिल्ली में की गई है। और दोनों ही जगह की लोकेशन को फिल्म में अच्छे से दिखाया गया है। फिल्म का बैकग्राउंड म्यूजिक ड्रामा और डर क्रिएट करने की कोशिश करता है लेकिन इनसे न हो पाया। फिल्म को इमोशनल मोड़ देने के लिए कुछ रियल इंसिडेंट की तस्वीरें, वीडियो क्लिप्स हैं और बहुत सारे अच्छे सीन्स दिखाए गए हैं लेकिन कमजोर एडिटिंग की वजह से हम इन सीन्स से बिल्कुल भी कनेक्ट नहीं कर पाए। अगर इनका सही इस्तेमाल होता तो शायद फिल्म कुछ और होती। वैसे ये फिल्म नहीं बल्कि डॉक्यूमेंट्री होनी चाहिए थी।
    फिल्म की कहानी पहले से समझे बिना अगर थिएटर में जाओगे तो शायद तुम्हारा टाइम बर्बाद होने वाला है। हां। हर सीन में नज़र आने वाले राजकुमार आपको खुश कर देंगे। फिल्म अच्छी है कम से कम एक बार तो देखी जानी चाहिए।

    • Storyline
    • Direction
    • Acting
    • Cinematography
    • Music

और ऑडियंस रिव्यूज़

  • Usha Shrivas

    Usha Shrivas

    27 रिव्यू , 6 फ़ॉलोअर्स
    रेटेड 2.0मई 03, 2018

    एक आतंकवादी की सच्ची कहानी को बताती है राजकुमार राव की फिल्म 'ओमेर्टा' !

    राजकुमार राव और हंसल मेहता ने साथ में शाहिद और अलीगढ़ जैसी लीग से अलग हटकर फिल्मों में काम कर चुके हैं। अब वो एक बार फिर ये जोड़ी ओमेर्टा जैसी अलग फिल्म...और पढ़ें