DA Image

ऑल यूज़र रिवीव्स ऑफ़ परी

  • आपके रोंगटों के भी रोंगटे खड़े कर देगी अनुष्का शर्मा की 'परी'

    Pallavi Jaiswal (190068 डीएम पॉइंट्स)

    रेटेड  
    4.0
    देसीमार्टीनी | अपडेट - March 02, 2018 00:30 AM IST
    3.0डीएम (31261 रेटिंग्स )

    निर्णय - निर्णय: अच्छी कहानी, बेहतरीन परफॉरमेंस और बढ़िया डायरेक्शन के साथ 'परी' को देखना बेहद ज़रूरी है !

    परीट्रेलर देखें रिलीज़ डेट : March 02, 2018



    बॉलीवुड में ऐसा कम ही होता है कि कोई हॉरर फिल्म बने और आपको उसे देखकर हंसी ना आये बल्कि बुरी तरह डर लगे। कुछ ऐसी ही है अनुष्का शर्मा की फिल्म परी। ये फ़िल्म कोई परिकथा नहीं है बल्कि ये कहानी है एक ऐसी लड़की की जो कहां से आई है, क्या चाहती है और कौन है कोई नहीं जानता। इस फ़िल्म के प्रोमो, स्क्रीमर और ट्रेलर तो आपने देखे ही होंगे और ये सब देखने के बाद आपकी इस फ़िल्म के लिए जो दिलचस्पी बढ़ी है वो पूरी फिल्म के दौरान भी बरक़रार रहेगी।

    फ़िल्म की कहानी एक लड़की के बारे में है, जिसका नाम रुख़साना (अनुष्का शर्मा) है। रुख़साना जंगल मे अपनी माँ के साथ रहती है और उसकी माँ की मौत के बाद उसकी मुलाक़ात कोलकाता के अर्नब (परमब्रता चटर्जी) से होती है। अर्नब एक भला इंसान है, जो रुख़साना की मदद करता है। लेकिन उसे नहीं पता कि जिस लड़की को वो भोली भाली समझ रहा है वो असल में कुछ और ही है। रुख़साना के जीवन के अपने मकसद हैं, जिन्हें पूरा करना उसके लिए ज़रूरी है। वहीं एक आंदोलन से जुड़े प्रोफेसर क़ासिम (रजत कपूर) रुख़साना को मारना चाहते हैं। इसका कारण क्या है यही जानने वाली बात है।

    फिल्म का डायरेक्शन बहुत बढ़िया है। शुरू से लेकर आखिर तक एक भी सीन नहीं है, जिसे देखकर आप बोर होंगे। फिल्म के पहले सीन से लेकर आखिरी सीन तक आपकी दिलचस्पी बनी रहती है और आप अपनी सीट से चिपके रहते हैं। आपके मन में खौफ़ होता है और दिल में उत्साह कि अब क्या होगा? ये एक बहुत शानदार हॉरर फिल्म है और शायद बॉलीवुड में बहुत लम्बे समय बाद हम सभी को एक अच्छी और डरावनी हॉरर फिल्म देखने को मिली है। इसे देखकर पता चलता है कि फिल्म को जितने इत्मिनान से लिखा गया है डायरेक्टर प्रोसित रॉय ने इसे उतने ही दिल और दिमाग से बनाया है। और इतनी बढ़िया फिल्म बनाने के लिए उनकी दाद देनी पड़ेगी।

    परफॉरमेंस की बात की जाए तो अनुष्का शर्मा का फिल्म में जवाब नहीं है। उनकी आंखें, उनका भोलापन और उनका भूतिया रूप सबकुछ परफेक्ट है। जहां आपको उनपर एक पल दया आती है वहीं दूसरे ही पल आप उनसे डर कर थिएटर से भाग जाना चाहते हैं। एक्टर परमब्रता चटर्जी के टैलेंट को मानना पड़ेगा ! वो इतने बढ़िया कलाकार हैं और उन्होंने इस फिल्म में इतना बढ़िया काम किया है कि आपको उनसे प्यार हो जायेगा। रजत कपूर के एक्टिंग टैलेंट को तो सभी जानते और मानते हैं और उन्होंने हमेशा की तरह इस बार भी कमाल किया है। रजत का रोल भले ही बड़ा ना हो लेकिन बहुत महत्वपूर्ण था और जिस भी सीन या फ्रेम में वे आये उसे रोशन कर दिया। वैसे रजत भी फिल्म में कम डरावने नहीं है। इसके अलावा बाकि सपोर्टिंग कास्ट ने भी अपना काम बहुत बढ़िया तरीके से किया है।

    म्यूजिक और बैकग्राउंड की बात की जाये तो इस फिल्म में मुश्किल से दो या तीन गाने हैं और वो सभी बहुत बढ़िया हैं। वहीं बैकग्राउंड स्कोर इतना ज़बरदस्त है कि आपका डर फिल्म ख़त्म होने के बाद भी ख़त्म नहीं होगा। आप भले ही कितनी भी बहादुरी दिखा लें लेकिन बैकग्राउंड स्कोर सुनकर आपको थोड़ा तो डर लगेगा ही। सिनेमेटोग्राफी और एडिटिंग ज़बरदस्त है। कुल-मिलाकर ये फिल्म बहुत बढ़िया है और आपका दिल खुश करने वाली है। अपने वीकेंड को अच्छा बनाना है और कमज़ोर दिल वाले नहीं हैं तो आपको अनुष्का शर्मा की फिल्म 'परी' ज़रूर देखनी चाहिए। क्योंकि अगर नहीं देखी तो बॉलीवुड की अभी तक की सबसे बढ़िया हॉरर फ़िल्मों में से एक मिस कर देंगे आप और बाद में पछतायेंगे भी।

    • Storyline
    • Direction
    • Acting
    • Cinematography
    • Music

और ऑडियंस रिव्यूज़

  • Pallavi Jaiswal

    Pallavi Jaiswal

    45 रिव्यू , 5 फ़ॉलोअर्स
    रेटेड 4.0मार्च 02, 2018

    आपके रोंगटों के भी रोंगटे खड़े कर देगी अनुष्का शर्मा की 'परी'

    बॉलीवुड में ऐसा कम ही होता है कि कोई हॉरर फिल्म बने और आपको उसे देखकर हंसी ना आये बल्कि बुरी तरह डर लगे। कुछ ऐसी ही है अनुष्का शर्मा की फिल्म परी। ये फ़ि...और पढ़ें