लाल सिंह चड्ढा के बॉयकॉट पर छलका आमिर खान का दुख, लोगों से करते दिखें ये गुजारिश

    लाल सिंह चड्ढा के बॉयकॉट पर छलका आमिर खान का दुख, लोगों से करते दिखें ये गुजारिश

    फिल्म लाल सिंह चड्ढा को लेकर इस वक्त सोशल मीडिया पर बॉयकॉट चल रहा है। इस पर एक्टर आमिर खान ने दुख जताते हुए अपनी बात कही है। 

    लाल सिंह चड्ढा के बॉयकॉट पर छलका आमिर खान का दुख, लोगों से करते दिखें ये गुजारिश

    इस वक्त आमिर खान की फिल्म लाल सिंह चड्डा लोगों के निशाने पर बनी हुई है। फिल्म को लेकर रिलीज से पहले सोशल मीडिया पर बॉयकॉट करने की मांग जोरों से उठ रही है। इस वक्त बॉयकॉट लाल सिंह चड्ढा ट्रेंड करता हुआ दिखाई दे रहा है। फिल्म को लेकर इस वक्त जिस तरह का नकारात्मक माहौल बना हुआ है उस पर आमिर खान अपनी चुप्पी तोड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। 

    फिल्म लाल सिंह चड्ढा को लेकर जो बॉयकॉट इस वक्त चल रहा है इससे खुद आमिर खान भी परेशान होते हुए दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने इसको लेकर बात करते हुए कहा,' एक फिल्म बनाने में बहुत लोगों की मेहनत लगती है। इसके पीछे सिर्फ एक एक्टर ही नहीं बल्कि कितने लोगों के इमोशन्स जुड़े होते हैं। फिल्म देखने के बाद आप उसे पसंद कर सकते हैं और उसे नापसंद करने का भी पूरा अधिकार आपके पास है।'

    इतना ही नहीं आमिर खान ने आगे अपनी बात रखते हुए कहा,' फिल्म के रिलीज से पहले इस तरह की चीजें हर्ट करने का काम करती है। पता नहीं लोग ऐसा क्यों कर रहे हैं। मैं ये मानता हूं कुछ लोगों को ये लगता है कि मुझे इस मुल्क से प्यार नहीं है। लेकिन मैं उन्हीं लोगों से ये कहना चाहता हूं कि वो जैसा सोच रहे हैं वो सच नहीं है। मुझे प्यार है अपने देश से औऱ यहां के लोगों से। मैं उनसे यही गुजारिश करूंगा कि प्लीज मेरी फिल्म को बॉयकॉट न करें और थिएटर पर जाकर फिल्म देखें। 

    फिल्म की असफलता पर आमिर खान ने रखी राय

    बॉक्स ऑफिस पर फिल्म की असफलता को लेकर बात करते हुए आमिर खान ने कहा,' ऐसी बात नहीं है, फिल्में चली भी हैं। गंगूबाई, भूल भुलैया 2, कश्मीर फाइल्स, पुष्पा चली है। पुष्पा फिल्म ने कई वर्ड ऑफ माउथ से फिल्म ने कमाल कर दिया था। ऑडियंस को फिल्म पंसद आएगी तो चलेगी ही। मुझे लगता है कि कोविड की वजह से फिल्में थोड़ीी जल्दी आने लगी है ओटीटी पर। लोगों को लगता है कि यदि मैं थोड़ा और रूक जाऊंगा। तो घर में देख लूंगा। हालांकि मेरी फिल्मों के साथ ऐसा नहीं होता है। मेरी फिल्म 6-6 महीने ओटीटी पर नहीं आती है।

    ओटीटी में काम करने का मजा आता है

    आमिर खान ने आगे कहा,' मैंने थिएटर के लिए फिल्म बनाई है। मैं चाहता हूं कि लोग थिएटर जचाकर फिल्म देखें। ओटीटी के लिए जब कुछ बनाना होगा और मौका मिलेगा, तो मैं जरूर करूंगा। ओटीटी में किश्तों पर काम करने का मजा आता है। लेकिन मैं एक फिल्म बना रहा हूं। तो चाहूंगा कि सिनेमा के लिए बनाऊं। दूसरी बात कंटेंट की भी है। कंटेंट लोगों को पसंद आएगा, तो फिल्म चल जाएगी। 

    Tags
    About Author
    सभी को देश और दुनिया की खबरों के साथ-साथ एंटरटेनमेंट जगत से रुबरु कराने का काम करती हूं। राजनीति विज्ञान का ज्ञान लेकर एमए पास किया है। मास कम्युनिकेशन में पीजी डिप्लोमा के बाद फिलहाल पत्रकारिता कर रही हूं।