दिलीप कुमार को दी गई आखिरी विदाई, तिरंगे में लिपटकर हुए सुपुर्द-ए-ख़ाक!

    Trending

    दिलीप कुमार को दी गई आखिरी विदाई, तिरंगे में लिपटकर हुए सुपुर्द-ए-ख़ाक!

    दिलीप कुमार तिरंगे में लिपटकर हुए सुपुर्द-ए-ख़ाक!

    दिलीप कुमार को दी गई आखिरी विदाई, तिरंगे में लिपटकर हुए सुपुर्द-ए-ख़ाक!

    भारतीय सिनेमा के सबसे मज़बूत खम्भों में से एक दिलीप कुमार ने 98 साल की उम्र में इस दुनिया से विदा ली। सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के साथ, 30 जून को, मुंबई के पीडी हिंदुजा हॉस्पिटल में भर्ती करवाए गए दिलीप साहब ने आज अपनी आखिरी सांसे लीं। बुधवार, सुबह 7:30 पर, हमेशा डटकर बगल में खड़ी रहीं अपनी पत्नी, सायरा बानो की मौजूदगी में दिलीप कुमार ने प्राण त्याग दिए।

    उनके जाने से किसी पत्थर की सी खड़ी रह गईं सायरा बानो ने, अपने प्रेमी, अपने पति, अपने दिलीप ‘साब’ की अंतिम विदाई के लिए तैयारियां कीं। उनके पार्थिव शरीर को हॉस्पिटल से, उनके पाली हिल वाले घर लाया गया। जहां शाहरुख़ खान, धर्मेन्द्र जैसे अपनी विरासत को आगे ले जाने वाले कलाकारों से दिलीप  साहब आखिरी बार मिले। सिर्फ अभिनेता ही नहीं, दिलीप साहब को विदाई देने देता भी पहुंचे जिनमें सबसे बड़ा नाम खुद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का था।

    ठाकरे ने अनाउंस किया कि भारतीय सिनेमा के इस स्तम्भ को पूरे राजकीय सम्मान से विदाई दी जाएगी। कुछ ही देर में मुंबई पुलिस की टोली दिलीप साहब के यहां पहुंची और उन्हें तिरंगा ओढ़ाया गया। दिलीप साहब को सांताक्रूज़ के जुहू क़ब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-ख़ाक किया गया और वो वापिस उस ईश्वर के पास चले गए जिसने उन्हें बनाया।

    दिलीप साहब जैसे महान कलाकार दुनिया से विदा भले हो जाएं, मगर जाते कहीं नहीं हैं। हमारे पास रहते हैं, हमारी यादों का खजाना बनकर, और स्क्रीन पर ‘जुल्फें उड़ाते’, ‘कंवारियों के दिलों को मचलाते’ मिलते रहते हैं... अलविदा दिलीप साहब!



    Updated: July 07, 2021 10:39 PM IST
    About Author
    कंटेंट का बुखार हो या बॉक्स-ऑफिस की रफ़्तार... हमारे यहां फिल्मों की धार तसल्लीबख्श चेक की जाती है। शुक्रवार को मिलें, सिने-मा कसम.. देख लूंगा!