कंगना रानौत ने ली उन एक्ट्रेसेज़ की क्लास जिन्हें लगता है कि फीमेल एक्टर्स को मेल कोस्टार से कम पेमेंट मिलना सही है!

    Trending

    कंगना रानौत ने ली उन एक्ट्रेसेज़ की क्लास जिन्हें लगता है कि फीमेल एक्टर्स को मेल कोस्टार से कम पेमेंट मिलना सही है!

    कंगना रानौत ने ली बॉलीवुड एक्ट्रेसेज़ की क्लास

    कंगना रानौत ने ली उन एक्ट्रेसेज़ की क्लास जिन्हें लगता है कि फीमेल एक्टर्स को मेल कोस्टार से कम पेमेंट मिलना सही है!

    कंगना रानौत ने उन फीमेल एक्टर्स पर धावा बोला है जो इस बात को जस्टिफाई करती हैं कि उन्हें उनके मेल कोस्टार से कम सैलरी मिलती है। कंगना ने ये बात अपनी नयी फिल्म ‘पंगा’ के ट्रेलर लॉन्च इवेंट पर कही। कंगना ने कहा, ‘मैंने फिल्म इंडस्ट्री की कामयाब महिलाओं को ऐसी बातें कहते हुए सुना है कि हम बराबर पेमेंट नहीं डिज़र्व करते क्योंकि हीरोज़ को बड़ी ओपनिंग मिलती है।’ 

     -

    कंगना ने आगे कहा, ‘अगर आप सशक्त नहीं फील करतीं तो कोई आपको ऐसा महसूस नहीं करा सकता। आपको महसूस करना होगा कि आप बराबर हैं। भगवान ने मुझे पैनक्रियाज़, किडनी, दिल और आंखें दी हैं। मैं किसी से कम नहीं हूँ। अगर आप खुद को सशक्त नहीं महसूस करतीं, कोई कोर्ट आपको सशक्त नहीं महसूस करा सकता। आधी लड़ाई तो तभी हार जाते हैं जब आपको लगता है कि आप डिज़र्व नहीं करतीं।’ शायद कंगना उस बारे में बात कर रही थीं जो एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा ने कुछ दिन पहले कहा था। 

     -

    आपको बता दें कि जब फिल्म ‘मिशन मंगल’ का पहला पोस्टर लॉन्च किया गया था तो इस बात पर बहुत विवाद हुआ था कि फिल्म की पांच एक्ट्रेसेज़ के मुकाबले अक्षय को ज्यादा प्रमुखता से दिखाया गया था। इस बारे में बात करते हुए सोनाक्षी ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा था, ‘हम सभी के लिए ये एक टीम वर्क है। यहाँ तक कि जब हम शूटिंग भी कर रहे थे तब भी किसी को किसी से छोटा नहीं फील कराया गया था, जबकि फिल्म में इतने सारे लोग थे। और ये एक फैक्ट है कि अक्षय कुमार फिल्म के सबसे बड़े स्टार हैं! मुझे किसी ने बहुत पहले कहा था (स्माइल करते हुए) और वो मेरे दिमाग में अटक गया: जो बिकता है, वो दिखता है। आज जब आप अक्षय के कलेक्शन देखेंगे, वो पूरी फिल्म में सबसे ज्यादा बिकने वाले स्टार हैं, इसीलिए (पोस्टर में उन्हें ज्यादा प्रमुखता से दिखाया गया है)।’

    Updated: December 24, 2019 10:49 AM IST
    About Author
    कंटेंट का बुखार हो या बॉक्स-ऑफिस की रफ़्तार... हमारे यहां फिल्मों की धार तसल्लीबख्श चेक की जाती है। शुक्रवार को मिलें, सिने-मा कसम.. देख लूंगा!