सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी बोले- वो खुद फाड़ते थे डायरी से पेज, फैंस दे रहे जान से मारने की धमकी!

    Trending

    सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी बोले- वो खुद फाड़ते थे डायरी से पेज, फैंस दे रहे जान से मारने की धमकी!

    सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी को फैंस दे रहे धमकी

    सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी बोले- वो खुद फाड़ते थे डायरी से पेज, फैंस दे रहे जान से मारने की धमकी!

    सुशांत सिंह राजपूत के दोस्त और फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी ने कहा है की उन्हें एक्टर के फैंस से हजारों मैसेज मिले हैं जिसमें से कुछ मे उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है। सुशांत का निधन 14 जून को, उनके मुंबई वाले अपार्टमेंट मे हुआ और उस वक़्त सिद्धार्थ उनके साथ मौजूद थे। सिद्धार्थ ने उन आरोपों के बारे में भी बात के जिनमें कहा गया है की उन्होने सुशांत की डायरी से पन्ने फाड़े हैं। सिद्धार्थ ने कहा है कि सुशांत कई बार खुद डायरी से पन्ने फाड़ा करते थे।

    सीएनएन न्यूज़ 18 को इंटरव्यू देते हुए सिद्धार्थ ने कहा कि वो सुशांत के केस मे सीबीआई जांच शुरू होने से खुश हैं। सिद्धार्थ ने कहा, ‘मुझे हजारों मैसेज मिले हैं जिसमें से अधिकतर सुशांत के फैंस के हैं। उनमें मुझपर कई आरोप लगाए गए हैं और मुझे जान से मारने की धमकी भी दी गई है। मुझे नहीं पता कि वो सुशांत के असली फैंस हैं या सिर्फ कुछ लोग हैं जो अपना गुस्सा निकालना चाहते हैं। मैं उनसे रिक्वेस्ट करता हूँ कि हमें थोड़ा स्पेस दें और सिस्टम को उसका काम करने दें।’

    सिद्धार्थ ने धमकियाँ भेजे जाने को लेकर हैदराबाद पुलिस में अपनी शिकायत भी दर्ज करवाई है। टाइम्स नाओ को दिए एक अलग इंटरव्यू मे सिद्धार्थ ने सुशांत की दारी से गायब पन्नों के बारे में बात की। सिद्धार्थ ने खा कि उन्होने अक्सर सुशांत को डायरी लिखते देखा था और उन्होने एक डायरी के बारे में उनसे कुछ बातें भी शेयर की थीं। सिद्धार्थ ने बताया, ‘सुशांत ने जिन डायरियों के बारे में हमसे शेयर किया था उनमें उन्होने वैज्ञानिकों और जीनियसों के बारे मे लिखा था, वो उन्हें अपने घर बुलाना चाहते थे और एक अच्छा सा विडियो बनाना चाहते थे ताकि लोग उनसे सीख सकें।’ सिद्धार्थ ने सुशांत के डायरी से पन्ने गायब करने के आरोपों पर कहा, ‘सुशांत को अपना लिखा कुछ पसंद न आने पर पन्ने फाड़ने की आदत थी। मैं श्योर हूँ कि लोगों को और किताबों से भी पन्ने गायब मिलेंगे।’



    Updated: August 07, 2020 09:44 AM IST
    About Author
    कंटेंट का बुखार हो या बॉक्स-ऑफिस की रफ़्तार... हमारे यहां फिल्मों की धार तसल्लीबख्श चेक की जाती है। शुक्रवार को मिलें, सिने-मा कसम.. देख लूंगा!