प्रिंस नरूला ने फिनाले के बाद मुनव्वर को कुछ देने का किया था वादा, अब बताया क्या थी वो चीज़!

    प्रिंस नरूला ने फिनाले के बाद मुनव्वर को कुछ देने का किया था वादा, अब बताया क्या थी वो चीज़!

    प्रिंस नरूला अक्सर मुनव्वर को कहते नज़र आते थे कि वो फिनाले के बाद मुनव्वर को कुछ देने वाले हैं। अब उन्होंने बता दिया है कि वो चीज़ क्या थी...

    प्रिंस नरूला ने फिनाले के बाद मुनव्वर को कुछ देने का किया था वादा, अब बताया क्या थी वो चीज़!

    रियलिटी शोज़ के बादशाह प्रिंस नरूला को इस बात की बहुत ख़ुशी है कि मुनव्वर फारुकी ने कंगना रनौत का शो ‘लॉक अप’ जीत लिया है। प्रिंस तीन हफ्ते के लिए ‘लॉक अप’ में हुकुम का इक्का बन कर आए थे। पहले सभी को लगा कि वो भी ट्रॉफी की रेस में शामिल हैं लेकिन बाद में साफ़ हो गया कि उनकी एंट्री एक ख़ास मकसद से हुई है और वो कंटेस्टेंट्स का जीना हराम करने वाले हैं। 

    ‘लॉक अप’ में बिताए अपने इस समय के दौरान प्रिंस की बॉन्डिंग घर में सभी से बहुत अच्छी हो गई। अब प्रिंस ने एक ताज़ा बातचीत में बताया है कि मुनव्वर की जीत से वो कितने खुश हैं। इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए प्रिंस ने कहा, “शो पर कुछ ही लोगों ने बहुत मेहनत की थी, और वो (मुनव्वर) उनमें से एक थे। उन्होंने बहुत कम उम्र में अपने पेरेंट्स को खो दिया और अपनी ज़िन्दगी में बहुत कुछ झेलकर आए हैं। मुनव्वर ने आगे बढ़ने के एली बहुत संघर्ष किया है। वो पूरी तरह ये जीत डिज़र्व करते थे।” 

    शो पर प्रिंस अक्सर मुनव्वर को कहते नज़र आते थे कि उनके पास फिनाले के बाद उन्हें देने के लिए कुछ है। अब प्रिंस ने आख़िरकार बताया है कि वो क्या चीज़ थी। प्रिंस ने कहा, ‘मैंने उसे ऑलरेडी बता दिया है। फैमिली वीक में, जब युवी (प्रिंस की पत्नी युविका चौधरी) ने मुझे लेटर भेजा, उन्होंने मुझे मुनव्वर को सपोर्ट करने को कहा। मैं उन्हें नहीं बता सकता था क्योंकि फिर उन्हें पता चल जाता कि मैं एक कंटेस्टेंट नहीं हूं। मैं बस उनका सफ़र मुश्किल बनाना चाहता था ताकि जब वो जीतें, तो वो एक हीरो की जीत लगे।” 

    बता दें, प्रिंस के शो पर आने के बाद बहुत से लोगों को लगा था कि बाकी कंटेस्टेंट्स के लिए वो बहुत मुश्किल साबित होने वाले हैं, लेकिन वो एक प्यारे ‘ट्रबल मेकर’ बने और हमेशा कैदियों का ध्यान रखते थे।

    Updated: May 12, 2022 10:10 AM IST
    Tags
    About Author
    कंटेंट का बुखार हो या बॉक्स-ऑफिस की रफ़्तार... हमारे यहां फिल्मों की धार तसल्लीबख्श चेक की जाती है। शुक्रवार को मिलें, सिने-मा कसम.. देख लूंगा!