Anupamaa Spoiler: अनुपमा को धक्के मारकर निकालेंगे बा-वनराज, अनुज लगाएगा अकल ठिकाने

    Anupamaa Spoiler: अनुपमा को धक्के मारकर निकालेंगे बा-वनराज, अनुज लगाएगा अकल ठिकाने

    सीरियल अनुपमा में पाखी सारी हदें पार कर देगी। पाखी को बढ़ावा देते हुए वनराज और बा नजर आएंगे। वो अनुपमा को धक्के मारकर घर से निकालने के लिए कहेंगे। लेकिन अनुज उन्हें सुधार देगा। 

    Anupamaa Spoiler: अनुपमा को धक्के मारकर निकालेंगे बा-वनराज, अनुज लगाएगा अकल ठिकाने

    सीरियल अनुपमा टीवी टीआरपी की लिस्ट में धमाल मचाता हुआ दिखाई दे रहा है। इस सीरियल में लगातार कई सारे ट्विस्ट एंड टर्न देखने को मिल रहे हैं। सीरियल में अब तक ये दिखाया गया था कि अनुपमा और छोटी अनु के शाह परिवार में आने के बाद पाखी का गुस्सा बढ़ जाता है। वो अपने घर से दोनों को निकलने के लिए कहती है। लेकिन अब एक बड़ा ट्विस्ट सीरियल में आने वाला है।

    पाखी अनुपमा को बुरा भला कहना बंद नहीं करती है। वो अपनी मां को सेल्फिश औऱ घमंडी कहने के साथ-साथ एक घर तोड़ने वाली महिला भी कहती है। पाखी सारी हदे पार करते हुए अनुपमा से कहती है , "उसकी वजह से बा और बापूजी का रिश्ता खराब हुआ, काव्या और वनराज लड़ते हैं और अब उसकी वजह से अनुज और उसके भैया-भाभी में परेशानी हो रही है।" पाखी के मुंह से ये बात सुनते ही अनुपमा बहुत टूट जाती है।

    अनुपमा पाखी के सामने जब रो रही होती है तो काव्या का दिल पसीज जाता है। वो अनुपमा को साथ देते हुए पाखी को खूब सुनाती है और कहती है- , "आजतक मुझे इस बात का पछतावा था कि मैं मां क्यों नहीं बनी। लेकिन अगर औलादें तुम्हारी तरह निकम्मी हों तो मैं बेऔलाद ही ठीक हूं।" इतना ही नहीं वो पाखी को सुनते हुए ये भी कह देती है कि पाखी एक नंबर की जिद्दी और नकारा भी है।

    वनराज देगा धक्के मारने की धमकी तो अनुज लगाएगा अकल ठिकाने

    अनुपमा का साथ देने के बजाए बा और वनराज उसे वहां से ही जाने के लिए कह देते हैं। बा अनुपमा को सुनाते हुए कहती है कि अनुपमा अनुज कपाड़िया दोबारा यहां पर मत आना। उनकी बातों का जवाब देते हुए अनुपमा कहती है कि यह उसका घर है और वह अपना हक बिल्कुल भी नहीं छोड़ेगी। लेकिन वनराज अनुपमा को ताने मारते हुए कहा है- अपना ड्रामा यहां पर बंद करो और जाओ यहां से वरना तुम्हे धक्के मारकर निकालूंगा। वनराज जो भी बात अनुपमा से बोल रहा होता है वो सब अनुज सुन लेता है और कहता है कि कोई मेरी अनु को हाथ लगाकर दिखाओ। वैसे तो मेरी अनु ही सबके लिए काफी है। लेकिन आज वो रो रही है। ऐसे में मैं उनका साथ दूंगा।

    Tags
    About Author
    सभी को देश और दुनिया की खबरों के साथ-साथ एंटरटेनमेंट जगत से रुबरु कराने का काम करती हूं। राजनीति विज्ञान का ज्ञान लेकर एमए पास किया है। मास कम्युनिकेशन में पीजी डिप्लोमा के बाद फिलहाल पत्रकारिता कर रही हूं।