बिग बॉस 10 के मनु पंजाबी को धमकी देने वाले को पुलिस ने धर धबोचा, 4 घंटे के अंदर मांगे थे 10 लाख रुपये

    बिग बॉस 10 के मनु पंजाबी को धमकी देने वाले को पुलिस ने धर धबोचा, 4 घंटे के अंदर मांगे थे 10 लाख रुपये

    सिद्दू मूसेवाला की तरह मनु पंजाबी को भी जान से मारने की धमकी दी गई थी। उनसे 4 घंटे में 10 लाख रुपये मांगे गए थे। लेकिन पुलिस ने इस शख्स को पकड़ लिया और अभी वो जेल मे है।

    बिग बॉस 10 के मनु पंजाबी को धमकी देने वाले को पुलिस ने धर धबोचा, 4 घंटे के अंदर मांगे थे 10 लाख रुपये

    बिग बॉस 10 के मनु पंजाबी को एक धमकी भरा इमेल मिला था जिसमें उनसे फिरौती मांगी गई थी। उनसे मेल में 4 घंटे के अंदर 10 लाख रुपये की डिमांड की गई थी और अगर वो ऐसा नहीं करेंगे तो उन्हें मार दिया जाएगा। मेल में गोल्डी बरार के डिजिटल साइन थे। ये वही कनाडा बेस्ट गैंगस्टर है जिसने कथित तौर पर सिद्धू मूसेवाला को मारने की जिम्मेदारी ली थी। हालांकि मनु पंजाबी को धमकी देने वाले को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस बात की जानकारी खुद मनु पंजाबी ने दी है।

    ई टाइम्स से बात करते हुए मनु पंजाबी ने कहा, ''22 जून को, मुझे किसी का ईमेल मिला जिसमें कहा गया था कि वह लॉरेंस बिश्नोई गिरोह से है। उसने मुझसे 10 लाख रुपए मांगे। मेल में कहा गया था कि अगर मैंने अगले चार घंटों में पैसे नहीं भेजे तो मुझे मार दिया जाएगा। मुझे मेल में पुलिस से संपर्क न करने की चेतावनी भी दी गई थी। ईमेल में, अंत में, गोल्डी बरार के डिजिटल साइन थे।''

    मनु ने आगे कहा, ''चूंकि मैं राजस्थान में था, इसलिए मैंने स्थानीय पुलिस से संपर्क किया, जिसने मेरी सुरक्षा के लिए दो पुलिस कर्मियों को लगाया। जांच के बाद उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया, जिसके बारे में उनका कहना है कि वो यूपी का रहने वाला ड्रग एडिक्ट है। हालांकि इस व्यक्ति का दावा है कि वो बिश्नोई गिरोह से है लेकिन पुलिस ने अभी इस बात को कंफर्म नहीं किया है, मेरा परिवार अभी भी डरा हुआ है। दरअसल, दो दिन पहले मेरा एक कार्यक्रम था, लेकिन मेरे परिवार ने मुझे इसे रद्द करने के लिए मजबूर किया।''

    जयपुर की डिप्टी कमिश्नर (वेस्ट) ऋचा तोमर ने बताया, “मनु ने ईमेल के बारे में चार दिन पहले हमसे संपर्क किया था। जयपुर (पश्चिम) की हमारी तकनीकी निगरानी टीम द्वारा जांच के बाद, हमने बिजनौर (यूपी) को ईमेल के आईपी पते का पता लगाया, और हमने आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए वहां एक टीम भेजी।''

    उन्होंने आगे कहा, ''जिस तरह से ईमेल का ड्राफ्ट तैयार किया गया है, एक पैम्फलेट की तरह, वह लॉरेंस बिश्नोई गिरोह का तौर-तरीका नहीं है, और उसने पैसे भेजने के लिए कोई बैंक खाते का विवरण नहीं भेजा था। हमारी जांच से पता चलता है कि आरोपी एक ड्रग एडिक्ट है, और उसने अन्य हस्तियों को भी ईमेल भेजा है, जिनके बारे में मैं अभी नहीं बता सकती हूं। हम उसे पुलिस हिरासत में रखेंगे और उससे आगे पूछताछ करेंगे।"

    Tags
    About Author
    बॉलीवुड गपशप का बिंदास बंदा। मूवी और वेब सीरीज में खास दिलचस्पी। राइटिंग और वीडियो इंटरव्यू से देता हूं एंटरटेनमेंट का डोज।