रिया चक्रवर्ती जेल में दूसरे कैदियों की डिमांड पर करती थीं डांस, साथी कैदी सुधा भारद्वाज का बड़ा खुलासा

    रिया चक्रवर्ती जेल में दूसरे कैदियों की डिमांड पर करती थीं डांस, साथी कैदी सुधा भारद्वाज का बड़ा खुलासा

    एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ड्रग्स मामले में 28 दिन भायकुला जेल में बिताने पड़े। एक्ट्रेस ने तो कभी अपने जेल के दिनों पर बात नहीं की। लेकिन उस समय उन्हीं के साथ सजा काट रही मानवाधिकार वकील और ट्रेड यूनियनिस्ट सुधा भारद्वाज ने रिया केसाथ के समय के बारे में बताया है।

    image

    जून साल 2020 में सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड ने सभी को हैरान कर दिया था। किसी को यकीन नहीं हो रहा था कि एक्टर कभी ऐसा कदम उठा सकते हैं। सुशांत की डेथ के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स की सच्चाई सामने आई। एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती ड्रग्स मामले में 28 दिन भायकुला जेल में बिताने पड़े। एक्ट्रेस ने तो कभी अपने जेल के दिनों पर बात नहीं की। लेकिन उस समय उन्हीं के साथ सजा काट रही मानवाधिकार वकील और ट्रेड यूनियनिस्ट सुधा भारद्वाज ने रिया केसाथ के समय के बारे में बताया है।

    सुधा भारद्वाज भीमा कोरेगांव केस में जेल में थी। उन्हें एक साल की सजा के बाद पिछले साल दिसंबर में रिहाई मिली है। सुधा ने रिया चक्रवर्ती के जेल के दिनों के बारे में वेबसाइट न्यूज लॉन्ड्री से बातचीत की है। सुधा भारद्वाज ने कहा, ‘सुशांत सिंह राजपूत की बातें मीडिया में चल रही थीं, वहां लोग कहते थे कि वह पागल था। उस वक्त हम कहते थे कि रिया को बलि का बकरा बनाया जा रहा है।’ हम इससे बहुत नाखुश थे। इसलिए, मुझे इस बात की खुशी हुई थी कि उन्हें मुख्य बैरक में नहीं लाया गया था। उन्हें स्पेशल सेल में रखा गया था। मुझे लगता है कि उन्हें इसलिए वहां रखा गया था ताकि वह टीवी न देखें, क्योंकि लोग उस टीवी को चालू रखेंगे। हर समय उनके मामले के बारे में सुनते थे जोकि परेशान करने वाला होता था।’

    उन्होंने आगे कहा, ‘मैं उनके लिए यह जरूर कहना चाहूंगी कि उन्हें इस तरह की स्थिति में डाल दिया गया था। हालांकि उन्होंने इसे बहुत ही हिम्मत से लिया और वह अन्य कैदियों के साथ बहुत दोस्ताना तरीके से रहती थी। वह बच्चों के साथ बहुत मिलनसार थी। पहले दिन हर कोई कहे जा रहा था कि रिया कहां है? लेकिन वो शांति से रहती थी। आप जानते हैं कि लोग कैसे होते हैं, लेकिन वह कभी इस बारे में बात नहीं करेगी। और जब वह जाने वाली थी, तो उनके बैंक अकाउंट में कुछ ही पैसे बचे थे, इसलिए उसने सभी बैरकों के लिए मिठाई देने के लिए कहा। सभी कैदी उसे अलविदा कहने के लिए नीचे आए। फिर, सभी ने कहा कि रिया, एक डांस, एक डांस’। उन्होंने कैदियों की बात का सम्मान करते हुए उन सभी के साथ डांस किया।’

    Tags